शनिवार, 17 अक्तूबर 2009

दीपावली तेरा अभिनंदन !!


तोड़ कर तम के सारे बंधन,
आ .. दीपावली तेरा अभिनंदन !!

तिमिर घृणा का नहीं हो,
हर ह्रदय मे बस ख़ुशी हो।
हो चतुर्दिक शांति और शुभ,
प्यार में नित समृद्धि हो।

फिर तेरा करूं मैं वंदन !
दीपावली तेरा अभिनंदन !!

घिसी पिटी बेमानी रस्में,
भारत से उठ जाएं बिलकुल।
जाति-धर्म का भेद मिटा कर,
रहें देश में हम सब मिलजुल।।

तब तेरा हो शुभ नीराजन।

दीपावली तेरा अभिनंदन !!

दूर हो जग की मलिनता,
आओ मन ऐसे बुहारें।
सीख सद्गुण रह सरल चित्त,
उर से दुर्गुण को बिसारें॥

पुष्पांजलि तब करूं मैं अर्पण।
दीपावली तेरा अभिनंदन !!


दीपोत्सव की शुभ-कामनाएं
- मनोज कुमार

21 टिप्‍पणियां:

  1. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  2. sachchi abhilasha... bhagwan bhaaratvarsh me aisee hee ho diwalee. jyoti parv kee shubh-kaamnaayen !!!

    उत्तर देंहटाएं
  3. दुनिया से मिट जाये क्रंदन।
    दीवाली का है अभिनन्दन।।
    और-
    जगमग दीप जले घर आँगन आपस में हो प्यार।
    चाह सुमन की घर घर खुशियाँ नित नूतन संसार।।

    सादर
    श्यामल सुमन
    www.manoramsuman.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत उम्दा!!


    सुख औ’ समृद्धि आपके अंगना झिलमिलाएँ,
    दीपक अमन के चारों दिशाओं में जगमगाएँ
    खुशियाँ आपके द्वार पर आकर खुशी मनाएँ..
    दीपावली पर्व की आपको ढेरों मंगलकामनाएँ!

    -समीर लाल 'समीर'

    उत्तर देंहटाएं
  5. घिसी पिटी बेमानी रस्में,
    भारत से उठ जाएं बिलकुल।
    जाति-धर्म का भेद मिटा कर,
    रहें देश में हम सब मिलजुल।।
    दीपावली पर्व सही अर्थों में तभी हम मनाने के हकदार होंगे। सबके मन-हृदय में प्रकाश फैले।

    उत्तर देंहटाएं
  6. Buraii par sachhai ki jeet k awsar pe manai jaane wali deepawali mein aapki is kavita ne maano deepo se susajjit kar diya...

    उत्तर देंहटाएं
  7. दीपावली, गोवर्धन-पूजा और भइया-दूज पर आपको ढेरों शुभकामनाएँ!

    उत्तर देंहटाएं
  8. Deepawali sirf deep aur patakhe jalane ka parv nahi hota!
    Deepawali ka parv apne mann se ghrina,beimaani,dwesh ko mitakar sab ke liye aur apne desh ke liye SHANTI,SAMRIDDHI aur BHAICHARA ki kaamna karni chahiye...

    उत्तर देंहटाएं
  9. Aapki yeh kavita padh kar vichaar ke kshann hi nahin manoranjan aur phuljhariyon ka zayka bhi mila.

    SHUBH DEEPAWALI...

    उत्तर देंहटाएं
  10. निशि दिन खिलता रहे आपका परिवार
    चंहु दिशि फ़ैले आंगन मे सदा उजियार
    खील पताशे मिठाई और धुम धड़ाके से
    हिल-मिल मनाएं दीवाली का त्यौहार

    उत्तर देंहटाएं
  11. अच्‍छे संदेश देती रचना !!
    पल पल सुनहरे फूल खिले , कभी न हो कांटों का सामना !
    जिंदगी आपकी खुशियों से भरी रहे , दीपावली पर हमारी यही शुभकामना !!

    उत्तर देंहटाएं
  12. सपरिवार आपको दिवाली की बहुत-बहुत शुभकामनाएं. शुक्रिया.
    ---
    हिंदी ब्लोग्स में पहली बार Friends With Benefits - रिश्तों की एक नई तान (FWB) [बहस] [उल्टा तीर]

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत सुन्दर रचना है।बधाई।

    शुभ दीपावली।

    उत्तर देंहटाएं
  14. bahoot hi sundar rachna sir, Happy Deewali...

    aapke apne blog http://swarnimpal.blogspot.com/ par aapka swagat hai....

    उत्तर देंहटाएं
  15. VERY BEAUTIFULL COMPOSITION.....
    IT MAKES OUR HEART CALM, QUITE & FRESH....
    HAPPY DIWALI TO......

    उत्तर देंहटाएं
  16. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  17. "बहुत अच्‍छी कवीता है"।

    नई विचारोत्तेजक बात, वैचारीक ताज़गी, लिए हुए रचना विलक्षण है।
    मद्दे की गंभीरता बेहद ईमानदारी मे अपनी बात रखी है।

    "दिपावली की हरदिक शुभकामनाऍ"

    उत्तर देंहटाएं
  18. सुंदर कविता के साथ दीपावली का स्वागत व अभिनंदन अच्छा लगा ।
    आशा है आपकी दिवाली शुभ रही होगी ।

    उत्तर देंहटाएं
  19. इस दीपावली में प्यार के ऐसे दीए जलाए

    जिसमें सारे बैर-पूर्वाग्रह मिट जाए

    हिन्दी ब्लाग जगत इतना ऊपर जाए

    सारी दुनिया उसके लिए छोटी पड़ जाए

    चलो आज प्यार से जीने की कसम खाए

    और सारे गिले-शिकवे भूल जाए

    सभी को दीप पर्व की मीठी-मीठी बधाई

    उत्तर देंहटाएं

आपका मूल्यांकन – हमारा पथ-प्रदर्शक होंगा।