मंगलवार, 17 नवंबर 2009

पक्षी

उप्न्यास त्यागपत्र

18 टिप्‍पणियां:

  1. जिस देश में ऐसी राजनीति पनप रही है उस देश का भविष्य उज्ज्वल कैसे होगा .........

    उत्तर देंहटाएं
  2. बाल ठाकरे का यह वक्तव्य उसकी ओछी मानसिकता को ही दर्शाता है।
    -Zakir Ali ‘Rajnish’
    { Secretary-TSALIIM & SBAI }

    उत्तर देंहटाएं
  3. हां ठाकरे के घेरे में तो कभी भी कोई भी आ जाता है...........

    उत्तर देंहटाएं
  4. समसामयिक मुद्दे पर अच्छा आलेख।

    उत्तर देंहटाएं
  5. Bahut satiik likha hai aapne 'जब नाश मनुज पर छाता है ! पहले विवेक मर जाता है !!' Es tarah ki politics ka koi matlab nahi banta.Hum sab bhartiya hain aur ek bindian ko dusre se larwaane ka kya matlab banta hai.Aur mujhe nahi lagta ki sachin ne kuch bhi galat kaha ho!!!Magar en politicians ko kaun samjhayein yea toh hote hi bewkuf hain.

    उत्तर देंहटाएं
  6. Thakarey aaj chaalis varshon se desh ka to chhodiye, jis Mumbai ko apnee thaatee samjhte hain uska ranch maatra bhi bhala na kar sake ulte puree duniyaa me mumbai ke liye bhay paida kiya.... wo sakhs jab Tendulkar jaise Virat chhabi ke dhani vyaktitwa par kankar uchhalta hai to bas ek hee dialogue hai, 'sheeshe ke gharon me rahne waale....... '

    उत्तर देंहटाएं
  7. shabbash Sachin ! Blog par ise lane ke liye apka bhi shukriya !

    उत्तर देंहटाएं
  8. सही कहा है आपने। दुख के साथ आक्रोश भी होता है।

    उत्तर देंहटाएं
  9. ye thakhre ko bolne ka koi fark nahi padta. sachin tho bagwan hai tho chandh ka munh par thukhne wale ko kya hotha hai, wo sabi jantha hai!
    - thyagarajan

    उत्तर देंहटाएं
  10. Well done ! Thanks to both Sachin n you.

    उत्तर देंहटाएं
  11. We all should come together to critisise strongly the mud thrown on the God of cricket !

    उत्तर देंहटाएं
  12. ठाकरों पर क्या कहें ? इनको ना सुने और ना ही कुछ कहें!!!!!! बिना सत्ता ये वैसे ही ख़त्म हो जायेंगे!!!

    उत्तर देंहटाएं
  13. Sachin jaise khiladi par is tarah ka comment nindaniya hai.( MOHSIN )

    उत्तर देंहटाएं
  14. हमें संकिर्णताओं से ऊपर उठना होगा । हमें अपनी सोच का दायरा विस्तृत करना होगा। बढिया आलेख।

    उत्तर देंहटाएं

आपका मूल्यांकन – हमारा पथ-प्रदर्शक होंगा।